सौतेली मां ने डांटा तो घर से भाग गया बेटा, 22 साल बाद जोगी के भेष में लौटा, भजन-कीर्तन गाते देख रो पड़े परिजन

उत्तर प्रदेश के अमेठी में 22 साल पहले घर से लापता हुआ लड़का जोगी के भेष में घर पहुंचा तो परिजन भावुक हो गए। वे फूट-फूटकर रोने लगे, उनका वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।

New Update
aaa

step mother scolded, son ran away from home

वीडियो में लड़का जोगी भेष में सारंगी बजाते हुए भजन-कीर्तन गा रहा है। आसपास काफी लोग मौजूद हैं। घरवालों के लाख रोकने पर भी जोगी बेटा नहीं रुका, वह अपने सफर पर आगे बढ़ गया। दरअसल, पूरा मामला जायस थाना क्षेत्र के खरौली गांव का है। जहां के रहने वाले रतिपाल सिंह अपनी पहली पत्नी और एक लड़के के साथ दिल्ली में रहते थे। इस बीच उनकी पहली की पत्नी की मौत हो गई। इसके बाद उन्होंने भानुमति से दूसरी शादी कर ली। काफी समय तक रतिपाल पहली पत्नी के लड़के, भानुमति और उसकी बेटी के साथ रहे।

लेकिन 2002 में रतिपाल की पहली की पत्नी का लड़का पिंकू सिंह घर छोड़कर गायब हो गया। गायब होने के पहले कंचा-गोली खेलने की जिद पर रतिपाल ने उसको मारा-पीटा और डांटा था। सौतेली मां ने भी जमकर फटकार लगाई थी। जिससे आहत होकर पिंकू ने घर छोड़ दिया। तब उसकी उम्र 11 साल थी, काफी खोजबीन के बाद भी उसका पता नहीं चला।

22 साल बाद अचानक घर पहुंचा गायब हुआ बेटा   
इस घटना के करीब 22 साल बाद रतिपाल का गायब हुआ लड़का पिंकू बीते हफ्ते अपने घर पहुंचा तो परिजन स्तब्ध रह गए। वह जोगी के रूप में था. पहले उसने पूरे गांव की परिक्रमा की फिर अपने घर पहुंचा। जिसके बाद परिजनों (बुआ आदि) के द्वारा दिल्ली में रह रहे पिता और सौतेली मां को सूचना दी गई तो वो लोग भी घर आ गए।

उन्होंने पिंकू के शरीर में लगी चोट से उसको पहचान लिया। बेटे को जोगी के भेष में और सही सलामत देख सभी की आंखो में आंसू आ गए। परिजन रोने लगे। उन्होंने पिंकू से घर पर ही रुकने के लिए निवेदन किया लेकिन वो नहीं माना। पिंकू भिक्षा लेकर वहां से चला गया।

वीडियो में रोते दिखे परिजन   
22 साल बाद जोगी बनकर घर लौटे पिंकू सिंह ने परिजनों और गांव वालों को मार्मिक गीत सुनाया तो वो रोने लगे। वीडियो में पिंकू के बगल में बैठकर उसकी बुआ फूट-फूट कर रो रही है। आसपास लोगों की भीड़ है, भावुक कर देने वाला ये वीडियो काफी वायरल हो रहा है। 

परिजनों ने बताया की 11 साल के उम्र में गायब हुए पिंकू की मुलाकात दिल्ली में किसी साधु से हो गई थी। जिसके बाद वह उन लोगों के साथ सन्यास का जीवन बिताने लगा। 22 जनवरी को अयोध्या में राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम में शामिल होने के बाद वह अपने घर भिक्षा लेने के लिए पहुंचा था।

दादी और सौतेली मां ने क्या कहा?   
जोगी बने पिंकू की सौतेली मां ने कहा कि पिंकू दिल्ली से गायब हो गया था। उस वक्त वह खेल रहा था। एक दिन पहले मैंने शैतानी के चलते उसे थप्पड़ मार दिया था. पिता ने भी डांटा था। उसी के बाद पिंकू घर से चला गया था। 22 साल बाद मेरा लड़का अचानक घर आया है। हम सब बेहद खुश हैं, चोट से पहचान हुई, मगर रोकने पर वो रुका नहीं। 

वहीं, पिंकू की दादी उर्मिला ने कहा कि शरीर में बने चोट के निशान से लड़के को पहचाना गया। हमारे नाती ने भी हमको पहचान लिया। उसने हम लोगों को भजन सुनाया, जिसे सुनकर सब रोने लगे।उसको बहुत रोका गया लेकिन वो नहीं रुका।

Advertisment
Latest Stories
Advertisment