Uttar pradesh news : सात साल की मासूम की रेप के बाद हत्या, सरसों के खेत में मिला बच्ची का शव

उत्तर प्रदेश के एटा जिले में एक सनसनीखेज वारदात के सामने आने के बाद सनसनी फैल गई। यहां सरसों के खेत से सात साल की मासूम बच्ची का शव बरामद किया गया है। मृतक बच्ची के परिजनों का आरोप है कि रेप के बाद उसकी गला दबाकर हत्या की गई है।

author-image
By priyanshi
New Update
aaaa

Seven year old innocent girl raped

बच्ची अपने घर के बाहर खेल रही थी। इसी बीच अचानक गायब हो गई। काफी खोजबीन के बाद उसका शव गांव से सटे सरसों के एक खेत में मिला। पुलिस ने पीड़िता के परिजनों की तहरीर के आधार पर केस दर्ज कर लिया है। आरोपियों की तलाश की जा रही है। 

Advertisment

एसएसपी ने कहा कि गुमशुदगी की शिकायत दर्ज की गई और पुलिस टीम ने डॉग स्क्वायड की मदद से लड़की की तलाश शुरू कर दी।कुत्तों की निशानदेही पर पुलिस ने रविवार को गांव के पास स्थित सरसों के खेत से बच्ची का शव बरामद किया।इस वारदात का पर्दाफाश करने के लिए पुलिस की चार टीमें गठित की गई हैं।पीड़िता के शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेज दिया गया है।पुलिस आरोपियों की पहचान में लगी हुई है।बहुत जल्द उनकी गिरफ्तारी के साथ इस केस को हल कर लिया जाएगा।

मोबाइल पर अश्लील फिल्म देख स्कूल में बच्ची से रेप
बताते चलें कि उत्तर प्रदेश के गोंडा जिले में भी रेप की एक सनसनीखेज वारदात सामने आई है।हैरानी की बात तो ये है कि इस वारदात को महज 8 और 10 साल के बच्चों ने अंजाम दिया है।वो भी स्कूल में, जहां उनके माता-पिता ने पढ़ने के लिए भेजा था।लेकिन उन दोनों ने पढ़ाई की बजाए मोबाइल पर अश्लील फिल्म देखना शुरू कर दिया।इसके बाद उत्तेजना के वशीभूत होकर लंचब्रेक में एक पांच साल की मासूम बच्ची को अपनी हवस का शिकार बना डाला।पुलिस ने आरोपियों को पकड़ लिया है।

Advertisment

पुलिस अधीक्षक (एसपी) विनीत जयसवाल ने बताया कि बलात्कार की ये वारदात गोंडा जिले के किशोरी धानेपुर थाना क्षेत्र के एक गांव के निजी स्कूल में हुई है।बीते शुक्रवार को प्राइमरी में पढ़ने वाली मासूम बच्ची लंचब्रेक में स्कूल परिसर में खेल रही थी।उसी समय  8 और 10 साल की उम्र के दो लड़के उसके पास आए।दोनों उसी स्कूल में पढ़ते हैं।दोनों उसे बहला फुसलाकर स्कूल के पीछे ले गए।वहां बारी-बारी से उसको अपनी हवस का शिकार बनाया ।डरी सहमी दर्द से कराहती पीड़िता किसी तरह अपने घर पहुंची।

स्कूल मैनेजमेंट ने भगाया, थाने में दर्ज कराया केस
एसपी ने बताया कि घर पहुंचने के बाद पीड़़ित बच्ची ने अपने परिवार को इस जघन्य घटना की जानकारी दी।परिजन उसे लेकर स्कूल में पहुंचे, लेकिन आरोप है कि प्रबंधन ने उन्हें वहां से भगा दिया।उनका कहना था कि वो लोग स्कूल को बदनाम करने के लिए झूठा आरोप लगा रहा हैं।इसके बाद परिजन थाने पहुंचे।उनकी तहरीर के आधार पर पुलिस ने केस दर्ज कर लिया।लड़की को शनिवार को मेडिकल जांच के लिए भेजा गया था।पुलिस ने इस वारदात को अंजाम देने वाले नाबालिगों को पकड़ लिया है।

पुलिस ने दावा किया कि आरोपियों ने अश्लील वीडियो देखने के बाद अपराध करने की बात स्वीकार कर ली है।उनके मुताबिक, उन लोगों स्कूल में ही मोबाइल पर पहले अश्लील फिल्म देखी थी।उसके बाद वो लोग मासूम बच्ची को लेकर स्कूल के पीछे गए थे।वारदात को अंजाम देने के बाद वो घर चले गए थे।वहां डरे सहमे हुए घर में छिपे हुए थे।पीड़िता ने उन दोनों की पहचान कर ली है।पुलिस आरोपियों के खिलाफ जांच करने के बाद जुवेनाइल कोर्ट में पेश करेगी।वहां से उनको बाल सुधार गृह भेजा जा सकता है।

Advertisment
Latest Stories
Advertisment