झारखंड में राजनीतिक हलचल तेज,हेमंत सोरेन पर ईडी की कार्रवाई को लेकर जेएमएम और कांग्रेस लगातार बीजेपी पर हमलावर ,अनुराग ठाकुर ने दिया ये जवाब

अनुराग ठाकुर ने हेमंत सोरेन की गिरफ्तार को लेकर बीजेपी पर लगाए जा रहे आरोपों पर कहा है कि कुछ पार्टियों को झूठे आरोप लगाने की आदत पड़ गई है. झारखंड के मुख्यमंत्री गंभीर भ्रष्टाचार के आरोपों के चलते आज जांच से भाग रहे हैं, जो मुंह छिपाकर दिल्ली से भागे. भ्रष्टाचार के आरोपों का जवाब नहीं दे पाए. अगर चुनाव हारते हैं, तो ईवीएम पर ठीकरा फोड़ते हैं. ये भी पढ़ें

New Update
अनुरीग

, हेमंत सोरेन पर ईडी की कार्रवाई को लेकर जेएमएम और कांग्रेस लगातार बीजेपी पर हमलावर है. इन सब का जवाब केंद्रीय मंत्री व बीजेपी के दिग्गज नेता अनुराग ठाकुर ने दिया है.

झारखंड में राजनीतिक हलचल तेज है. कयास लगाए जा रहे हैं कि सियासी खेला हो सकता है. राज्यपाल से दो बार मिलकर चंपई सोरेन सरकार बनाने का दावा पेश कर चुके हैं. हालांकि उन्हें अभी तक शपथ ग्रहण करने का वक्त नहीं मिला है. वहीं, हेमंत सोरेन पर ईडी की कार्रवाई को लेकर जेएमएम और कांग्रेस लगातार बीजेपी पर हमलावर है. इन सब का जवाब केंद्रीय मंत्री व बीजेपी के दिग्गज नेता अनुराग ठाकुर ने दिया है.

Advertisment

झारखंड में राजनीतिक स्थिरता के सवाल पर अनुराग ठाकुर ने TV9 भारतवर्ष से बातचीत में कहा है कि पिछले पांच सालों से ये लोग हल्ला मचा रहे हैं कि इनकी सरकार तोड़ ली जाएगी. इनके अंदर असुरक्षा की भावना है. इनकी पार्टी में अविश्वास है. सरकार तोड़ने को लेकर कभी कांग्रेस, तो कभी झारखंड मुक्ति मोर्चा चिल्लाती रहती है. हमने न ऐसा कोई प्रयास किया है और न हम कर रहे हैं.

वहीं, अनुराग ठाकुर ने हेमंत सोरेन की गिरफ्तार को लेकर बीजेपी पर लगाए जा रहे आरोपों पर कहा है कि कुछ पार्टियों को झूठे आरोप लगाने की आदत पड़ गई है. झारखंड के मुख्यमंत्री गंभीर भ्रष्टाचार के आरोपों के चलते आज जांच से भाग रहे हैं, जो मुंह छिपाकर दिल्ली से भागे. भ्रष्टाचार के आरोपों का जवाब नहीं दे पाए. अगर चुनाव हारते हैं, तो ईवीएम पर ठीकरा फोड़ते हैं.
ये भी पढ़ें


हेमंत सोरेन के इस्तीफे के बाद नई सरकार के गठन में हो रही देरी को लेकर केंद्रीय मंत्री ने कहा कि आखिरकार राज्यपाल को इन सब का अध्ययन करना पड़ता है. अध्ययन करने के बाद समय दिया गया होगा. वहीं, आदिवासियों के खिलाफ कार्रवाई होने के आरोपों पर केंद्रीय मंत्री ने कहा कि आदिवासियों के लिए सबसे बड़ा काम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारतीय जनता पार्टी ने किया है. ये कहीं नहीं लिखा है कि आप भ्रष्टाचार करें फिर अपनी जाति का उपयोग करें. भ्रष्टाचार किसी ने भी किया हो उसको जवाब देना चाहिए.

उन्होंने पूछा कि आखिरकार किस के हक की जमीन थी, जो झारखंड के मुख्यमंत्री ने अपने नाम पर करवा ली? क्या ये हजारों करोड़ रुपए के घोटाला का देश की जनता को जानने का अधिकार नहीं है? क्या भ्रष्टाचार करें और आदिवासी होने की वजह से सवाल न पूछा जाए?

Advertisment
Latest Stories
Advertisment