Advertisment

पीओके हमारा, वहां के हिंदू और मुसलमान भी हमारे; अमित शाह ने पाकिस्तान को बताया आत्याचारी देश

पीओके हमारा, वहां के हिंदू और मुसलमान भी हमारे; अमित शाह ने पाकिस्तान को बताया आत्याचारी देश उन्होंने पार्टियां तोड़ने के आरोप पर जवाब देते हुए कहा, हमने किसी पार्टी को नहीं तोड़ा है।

New Update
aaa

Amit Shah called Pakistan a tyrannical country

गृहमंत्री ने टीडीपी नेता चंद्रबाबू नायडू को लेकर कहा कि हमने उन्हें गठबंधन से नहीं निकाला था।पीओके हमारा, वहां के हिंदू और मुसलमान भी हमारे; अमित शाह ने पाकिस्तान को बताया आत्याचारी देश केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने पीओके के लेकर अपनी पार्टी और केंद्र सरकार का स्टैंड साफ करते हुए शुक्रवार को कहा कि पाकिस्तान के कब्जे वाला कश्मीर (पीओके) भारत का हिस्सा है। इसलिए वहां के हिंदू और मुस्लिम दोनों ही हमारे लोग हैं। एक टीवी इंटरव्यू में अमित शाह ने देश के विभाजन को गलत बताया। उन्होंने कहा, पाकिस्तान में हिंदुओं पर बहुत अत्याचार हुआ है। 

Advertisment

अमित शाह ने कहा कि आजादी के वक्त वहां हिन्दुओं की संख्या 23 फीसदी थी, जो अब घटकर 2.7 फीसदी रह गई है। उन्होंने कहा, पाकिस्तान में जबरन धर्म परिवर्तन कराया गया, महिलाओं से दुष्कर्म किया गया। ऐसे ही प्रताड़ित लोग पाकिस्तान छोड़कर भारत आए हैं। भला ऐसे लोगों को हम नागरिकता क्यों नहीं दें। 1950 से जो वादा था, उसे कांग्रेस ने पूरा नहीं किया हम उसे पूरा कर रहे हैं।

एनडीए 400 से ज्यादा सीट जीतेगी
अमित शाह ने कहा, ''भाजपा 300 पार और एनडीए 400 से ज्यादा सीटें जीतेगी। हमारे पास 10 साल का ट्रैक रिकॉर्ड और 25 साल का एजेंडा है। पिछले चुनाव में हमने 300 का टारगेट सेट किया था और 303 सीटें आई थीं, मैं आज फिर कहता हूं कि एनडीए इस बार 400 से ज्यादा सीटें जीतेगी।''

उन्होंने पार्टियां तोड़ने के आरोप पर जवाब देते हुए कहा, हमने किसी पार्टी को नहीं तोड़ा है। गृहमंत्री ने टीडीपी नेता चंद्रबाबू नायडू को लेकर कहा कि हमने उन्हें गठबंधन से नहीं निकाला था। बल्कि ये उन्हीं का फैसला था। जब वह जनता के पास गए और चुनाव हारे फिर उन्हें समझ में आया। अब हमारे साथ आ गए हैं, तो सभी का स्वागत है।

Advertisment

चुनावी बॉन्ड का चिट्ठा खुला तो विपक्ष परेशानी में आ जाएगा: शाह केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने चुनावी बॉन्ड को लेकर विपक्ष द्वारा उठाए जा रहे जा रहे सवालों पर जमकर पलटवार किया है। उन्होंने शुक्रवार को कहा कि यह भ्रम फैलाया जा रहा है की चुनावी बॉन्ड से भाजपा को फायदा हुआ है, जबकि हकीकत इससे उलट है। भाजपा के सांसद ज्यादा है लेकिन उसे केवल छह हजार करोड़ के बॉन्ड मिले हैं, जबकि विपक्ष के सांसद कम होने के बावजूद उनको कई गुना ज्यादा मूल्य के बॉन्ड मिले हैं। उन्होंने कहा कि चुनावी बॉन्ड का चिट्ठा खुलेगा तो विपक्ष परेशानी में आएगा।

शाह ने कहा, चुनाव बॉन्ड भारतीय राजनीति में से काले धन का वर्चस्व खत्म करने के लिए लाया गया था। पर उच्चतम न्यायालय जो फैसला देती है, वो सभी को मानना होता है। उन्होंने कहा कि वह किसी भी मंच पर किसी भी व्यक्ति से चर्चा करने के लिए तैयार हैं। कोई उनको ये समझा दे कि चुनावी बॉन्ड आने से पहले चंदा कैसे आता था, बॉन्ड से चंदा कैसे आता है? अपनी कंपनी के चेक आरबीआई को देकर एक बॉन्ड खरीदते हैं और राजनीति पार्टियों को देते हैं। उन्होंने कहा, इसमें गोपनीयता का सवाल आ गया है। उन्होंने कहा कि वह पूछना चाहते हैं कि जो नकदी में चंदा आता था, उसमें किसका नाम सामने आया है। यह भ्रम फैलाया जा रहा है कि बॉन्ड से भाजपा को बड़ा फायदा हुआ है, क्योंकि वह सत्ता में है।

अमित शाह ने कहा, राहुल गांधी ने बयान दिया कि दुनिया की सबसे बड़ी उगाही का बड़ा जरिया चुनावी बॉन्ड है। उन्होंने कहा कि मालूम नहीं राहुल गांधी को ये लिखकर कौन देता है। भाजपा को करीब छह हजार करोड़ के बॉन्ड मिले हैं। कुल बॉन्ड 20 हजार करोड़ के हैं तो 14 हजार के बॉन्ड कहां गए? 242 सांसद जिन पार्टियों के हैं, उन्हें 14 हजार करोड़ के बॉन्ड मिले हैं। शाह ने दावा किया कि जब हिसाब किताब होगा तो ये लोग किसी का सामना नहीं कर पाएंगे।

Advertisment
Latest Stories
Advertisment