Advertisment

केंद्र सरकार ने सुपौल में पुल गिरने की बताई वजह , घायलों और मृतक के परिजनों को दिया जायेगा मुआवजा

New Update
UG

कोसी नदी पर बन रहा देश के सबसे लंबे पुल का बड़ा हिस्सा गिर गया। इसमें दबने से एक मजदूर की मौत हो गई, जबकि नौ से अधिक मजूदर घायल हो गये। इस पुल की लम्बाई 10.2 किलो मीटर है जो भेजा-बकौर के बीच कोसी नदी पर बन रही है। इस पुल में कुल 170 स्पैन हैं। प्रत्येक स्पैन की लम्बाई लगभग 60 मीटर है (भेजा की तरफ से पिलर संख्या 1 एवं बकौर की तरफ से पिलर संख्या 171 है)। इस पुल का निर्माण मेसर्स गैमन इंजीनियरस एवं कान्ट्रैक्टर प्राईवेट लिमिटेड और मेसर्स ट्रान्सरेल लाइटिनिंग लिमिटेड (जॉइंट वेन्चर) इस खण्ड का निर्माण कर रही है। घटनास्थल पर मौजूद कर्मियों का कहना है कि इस हादसे में 11 मजदूर घायल हुए हैं। घायल मजदूरों को आननफानन में अस्पताल में भर्ती कराया गया, जिसमें 10 मजदूर खतरे से बाहर हैं। एक मजदूर की मौत अस्पताल ले जाने के दौरान हो गई। अधिकारियों का कहना है कि मृतक मजदूर के परिजन को दस लाख तथा घायल मजदूरों के परिजन को एक-एक लाख रुपये आर्थिक मदद किये गये हैं। शुक्रवार को हुए इस घटना को लेकर बताया जा रहा है कि ऐसा प्रतीत होता है कि ट्रेलर पर रखे सेग्मेन्ट को उठाते समय पिन के टूट जाने से निर्माणाधीन स्पैन 153-154 गिर गया। साथ ही यह भी कहना है कि इस संबंध में विस्तृत रिपोर्ट ब्रिज विशेषज्ञों के स्थल निरीक्षण के उपरान्त ही प्राप्त हो सकती है।

Advertisment
Latest Stories
Advertisment