आम आदमी पार्टी के विधायकों की खरीद फरोख्त के आरोप के मामले में क्राइम ब्रांच के एसीपी केजरीवाल को नोटिस देने उनके घर पहुंचे

केजरीवाल ने ईडी को भेजी चिट्ठी पर कहा था कि वह हर कानूनी समन मानने के लिए तैयार हैं, लेकिन ईडी का ये समन भी पिछले समन की तरह गैर कानूनी है. उन्होंने इसे राजनीति से प्रेरित बताते हुए वापस लेने की मांग की थी. इससे पहले केजरीवाल ने कहा था कि मैंने अपना जीवन ईमानदारी और पारदर्शिता से जिया. मेरे पास छिपाने के लिए कुछ नहीं है.  

author-image
By aryasamay
New Update
aam admi

इस बीच मुख्यमंत्री आवास के सूत्रों के मुताबिक, दिल्ली पुलिस बिना नोटिस दिए ही मुख्यमंत्री आवास से रवाना हो गई. सीएम ऑफिस के अधिकारी नोटिस लेने को तैयार थे. लेकिन पुलिस के अधिकारी बिना नोटिस दिए ही रवाना हो गए.

दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच की टीम शुक्रवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास पहुंची. आम आदमी पार्टी के विधायकों की खरीद फरोख्त के आरोप के मामले में क्राइम ब्रांच के एसीपी केजरीवाल को नोटिस देने उनके घर पहुंचे हैं.

Advertisment

 

सूत्रों के मुताबिक, अरविंद केजरीवाल ने आरोप लगाया था कि बीजेपी पार्टी उनके विधायकों को खरीदने की कोशिश कर रही है. केजरीवाल का कहना था कि उनके 21 विधायकों को तोड़ने की योजना है. इस संबंध में उनके सात विधायकों से संपर्क भी किया गया. 

 

Advertisment

दिल्ली सरकार में मंत्री आतिशी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर आरोप लगाया था कि बीजेपी दरअसल आम आदमी पार्टी के विधायकों को 25-25 करोड़ रुपये का ऑफर दे रही है. उनके सात विधायकों को तोड़ने की कोशिश की गई. आतिशी ने कहा था कि सही वक्त आने पर वे ऑडियो क्लिप जारी करेंगे.

 

 

 

 

 

इस बीच मुख्यमंत्री आवास के सूत्रों के मुताबिक, दिल्ली पुलिस बिना नोटिस दिए ही मुख्यमंत्री आवास से रवाना हो गई. सीएम ऑफिस के अधिकारी नोटिस लेने को तैयार थे. लेकिन पुलिस के अधिकारी बिना नोटिस दिए ही रवाना हो गए.

 

 

 

 

हालांकि, दिल्ली बीजेपी ने इन आरोपों का खंडन किया है और आम आदमी पार्टी से उन विधायकों के नाम बताने को कहा है, जिनसे कथित तौर पर बीजेपी ने संपर्क किया था. 

 

दिल्ली बीजेपी के सचिव हरिश खुराना ने आतिशी को चुनौती दी है कि वह उन विधायकों के नाम का खुलासा करें, जिनसे बीजेपी ने संपर्क किया था. बीजेपी का कहना है कि दरअसल इस तरह के बेतुके आरोपों से आप पार्टी असल मुद्दों से ध्यान भटकाने में लगी है.

 

 

 

शराब घोटाला मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने केजरीवाल को पूछताछ के लिए 5वीं बार समन भेजा है. इससे पहले भेजे गए ईडी के समन को मुख्यमंत्री केजरीवाल ने बदले की कार्रवाई बता दिया था. 

 

इससे पहले ईडी ने 17 जनवरी, 3 जनवरी, 21 दिसंबर और 2 नवंबर को दिल्ली सीएम को समन भेजा था, लेकिन वो पेश नहीं हुए थे. ईडी के लगातार समन जारी करने के बाद आम आदमी पार्टी ने दावा किया था कि ये सारी प्रक्रिया अरविंद केजरीवाल को गिरफ्तार करने के लिए की जा रही है. ईडी उन्हें पूछताछ के बहाने बुलाकर गिरफ्तार करना चाहती है. AAP का कहना है कि अगर ईडी को पूछताछ करनी है तो वह अपने सवाल लिखकर केजरीवाल को दे सकती है.

 

 

केजरीवाल ने ईडी को भेजी चिट्ठी पर कहा था कि वह हर कानूनी समन मानने के लिए तैयार हैं, लेकिन ईडी का ये समन भी पिछले समन की तरह गैर कानूनी है. उन्होंने इसे राजनीति से प्रेरित बताते हुए वापस लेने की मांग की थी. इससे पहले केजरीवाल ने कहा था कि मैंने अपना जीवन ईमानदारी और पारदर्शिता से जिया. मेरे पास छिपाने के लिए कुछ नहीं है.  

Advertisment
Latest Stories