Advertisment

Ujjain: उज्जैन में 151 क्विंटल फूलों से खेली जाएगी होली

New Update

कृष्ण व सुदामा के मैत्री स्थल ग्राम नारायणा में रविवार को होली पर 151 क्विंटल फूलों की होली का भव्य आयोजन होगा। सुबह 6 बजे भगवान श्री कृष्ण और सुदामा जी का अभिषेक एवं विशेष पूजा के बाद आरती होगी। इसके बाद सुबह 9 बजे मंदिर से फाग एवं ध्वज यात्रा निकाली जाएगी। उज्जैन के मंगलनाथ मंदिर के महंत जितेंद्र भारती सपत्निक भगवान श्री लड्डू गोपाल एवं ध्वज को शिरोधार्य कर निकलेंगे। इनके साथ निशान, हाथी, घोड़े, ऊंट, बैंड बाजे, कड़ाबिन, तोप, अखाड़े, भजन मंडलियां, मालवी फाग मंडलियां, संत समाज एवं बाबूलाल देवड़ा की कलाकार मंडली एवं रासलीला मंडली सम्मिलित होगी। रंग पर्व होली की परंपराएं भी सतरंगी हैं। वर्ष में जिन घरों में गमी हुई है, धुलेंडी पर उनके यहां रंग डालने की परंपरा है। इस दिन से शोकाकुल परिवारों में शुभ मांगलिक कार्यों की शुरुआत हो जाती है। इस बार 25 मार्च को धुलेंडी मनाई जाएगी। सुबह से ही विभिन्न समाजों की गुलाल गेर निकलेगी, समाजजन शोकाकुल परिवारों के घर जाकर रंग डालेंगे। इसके साथ ही उन परिवारों में मांगलिक कार्यों की शुरुआत होगी। सामाजिक परंपरा में इस दिन रिश्तेदार मुंह मीठा कराने के लिए मिठाई के रूप में शकर से बने हार, कंगन लेकर जाते हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में यह परंपरा अधिक प्रचलित है। होली के एक दो दिन पहले बताशे बनाने वाले कारोबारी शकर के हार, कंगन की बिक्री शुरू कर देते हैं। दौलतगंज, ढाबा रोड आदि क्षेत्रों में इन दिनों दुकानों पर यह पारंपरिक मिठाई बिक्री के लिए उपलब्ध है।

Advertisment
Latest Stories
Advertisment