किन्नर ने गरीब की बेटी की धूमधाम से शादी करवाई. यही नहीं, शादी में लाखों रुपये भी खर्च किए

आमतौर पर किन्नर लोग शादी-विवाह में बधाइयां देने पहुंचते हैं, लेकिन उन्हें समाज में हमेशा हक,अधिकार और सम्मान नहीं मिलता है. मध्यप्रदेश  के श्योपुर में एक किन्नर ने समाज को आईना दिखाते हुए ऐसी मिसाल पेश की, जिसकी चारों ओर तारीफें हो रही हैं. दरअसल, यहां एक किन्नर ने गरीब की बेटी की धूमधाम से शादी करवाई. यही नहीं

New Update
रलिर

आमतौर पर किन्नर लोग शादी-विवाह में बधाइयां देने पहुंचते हैं, लेकिन उन्हें समाज में हमेशा हक,अधिकार और सम्मान नहीं मिलता है. मध्यप्रदेश  के श्योपुर में एक किन्नर ने समाज को आईना दिखाते हुए ऐसी मिसाल पेश की, जिसकी चारों ओर तारीफें हो रही हैं. दरअसल, यहां एक किन्नर ने गरीब की बेटी की धूमधाम से शादी करवाई. यही नहीं

आमतौर पर किन्नर लोग शादी-विवाह में बधाइयां देने पहुंचते हैं, लेकिन उन्हें समाज में हमेशा हक,अधिकार और सम्मान नहीं मिलता है. मध्यप्रदेश  के श्योपुर में एक किन्नर ने समाज को आईना दिखाते हुए ऐसी मिसाल पेश की, जिसकी चारों ओर तारीफें हो रही हैं. दरअसल, यहां एक किन्नर ने गरीब की बेटी की धूमधाम से शादी करवाई. यही नहीं, शादी में लाखों रुपये खर्च किए गए और हर सामान देकर बेटी को विदा किया गया.

गरीब की बेटी का कन्यादान करने वाली किन्नर कोमल का कहना है कि मैं सनातन धर्म को मानने वाली हूं. मैंने अपने आश्रम पर बनवाए राममंदिर में अयोध्या के साथ ही राम भगवान की 22 जनवरी को प्राण-प्रतिष्ठा कराई है. इसी दिन से यहां रामकथा भी शुरू हुई थी. इसी कथा में मैंने सीता के रूप में कन्यादान किया है. कोमल ने बताया कि वे अब तक 22 से ज्यादा गरीब कन्याओं का विवाह करा चुकी हैं.


आर्थिक रूप से कमजोर दुल्हन के पिता पप्पू सुमन का कहना है कि कोमल दीदी एक बार हमारे घर आईं तो वो मेरी बेटी को देख प्रसन्न हुईं और कहा कि इसकी शादी मैं करूंगी. दुल्हन के पिता का कहना है कि मेरी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है, लेकिन मेरी बेटी का विवाह धूमधाम से हुआ, इसलिए मैं बहुत खुश हूं.

Advertisment
Latest Stories