Advertisment

शिवराज सिंह चौहान ने कहा राम हमारे रोम रोम में रमे हैं, राम हमारी हर सांस में बसे हैं, 500 साल की लंबी प्रतीक्षा के बाद ये दिन आया है

शिवराज ने कहा कि आज रामलला की प्रधानमंत्री जी के हाथों प्राण प्रतिष्ठा हो रही है। ये मंदिर केवल भगवान राम का मंदिर नहीं है। राष्ट्र का मंदिर भी है। राम हमारे रोम रोम में रमे हैं। राम हमारी हर सांस में बसे हैं।

New Update
शिवराज ने कहा कि आ

शिवराज ने कहा कि आज रामलला की प्रधानमंत्री जी के हाथों प्राण प्रतिष्ठा हो रही है। ये मंदिर केवल भगवान राम का मंदिर नहीं है। राष्ट्र का मंदिर भी है। राम हमारे रोम रोम में रमे हैं। राम हमारी हर सांस में बसे हैं।

शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि आज हर आंगन अयोध्या है और हर मन में राम बसे हैं। ओरछा में उन्होने रामराजा मंदिर में सफाई की और कहा कि आज का दिन ऐतिहासिक है जब सालों की लंबी प्रतीक्षा के बाद श्रीरामचंद्र जी की प्राण प्रतिष्ठा हो रही है। उन्होने इस अवसर पर उन बलिदानियों को याद किया जिन्होने इस दिन के लिए अपने प्राणो की आहुति दी।

Advertisment


शिवराज ने कहा कि आज रामलला की प्रधानमंत्री जी के हाथों प्राण प्रतिष्ठा हो रही है। ये मंदिर केवल भगवान राम का मंदिर नहीं है। राष्ट्र का मंदिर भी है। राम हमारे रोम रोम में रमे हैं। राम हमारी हर सांस में बसे हैं। राम हमारे प्राण भी हैं और राम हमारे भगवाव भी हैं। आज मैं उन सभी बलिदानियों के चरणों में श्रद्धा के सुमन अर्पित करता हूं। 500 साल तक लगातार ये दिन देखने के लिए संघर्ष चला। उस संघर्ष में जिन्होने अपने प्राणों का बलिदान दिया उनके चरणों में प्रणाम।

 

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि आज संपूर्ण देश अभूतपूर्व उल्लास और भक्तिभाव से भरा है। भारतीय जन-मन का सदियों का स्वप्न साकार हो रहा है। आज केवल रामलला की प्राण प्रतिष्ठा ही नहीं, बल्कि भारत के प्राणों की भी पुनर्प्रतिष्ठा हो रही है। जीवन धन्य-धन्य हुआ, करोड़ों-करोड़ रामभक्तों की तपस्या साकार हुई। हमारे राम पधार रहे हैं। बता दें कि शिवराज सिंह चौहान आज ओरछा के रामराजा मंदिर में हैं श्रीराम की पूजा अर्चना कर रहे हैं। सीएम मोहन यादव भी आज यहीं पूजा करेंगे।

Advertisment
Latest Stories
Advertisment