मध्य प्रदेश में कड़ाके की ठंड से राहत, आईऐ जानते मोसम का हाल

एक ओर जहां बर्फीली हवाओं की वजह से कई प्रदेशों में पारा लुढ़क गया है तो वहीं मध्य प्रदेश (MP) में कड़ाके की ठंड से राहत मिलती हुई नजर आ रही है. पिछले दिनों के मुताबिक प्रदेश के न्यूनतम तापमान में बढ़ोतरी देखी जा रही है, वहीं अधिकतम तापमान में भी जबरदस्त उछाल देखने को मिला है. फरवरी की शुरुआत से पहले ठंड (Cold) से राहत के साथ ही कोहरा (Fog) भी छंटता हुआ दिखाई दे रहा है.

New Update
कनडिसन

एक ओर जहां बर्फीली हवाओं की वजह से कई प्रदेशों में पारा लुढ़क गया है तो वहीं मध्य प्रदेश (MP) में कड़ाके की ठंड से राहत मिलती हुई नजर आ रही है. पिछले दिनों के मुताबिक प्रदेश के न्यूनतम तापमान में बढ़ोतरी देखी जा रही है, वहीं अधिकतम तापमान में भी जबरदस्त उछाल देखने को मिला है. फरवरी की शुरुआत से पहले ठंड (Cold) से राहत के साथ ही कोहरा (Fog) भी छंटता हुआ दिखाई दे रहा है.

एक ओर जहां बर्फीली हवाओं की वजह से कई प्रदेशों में पारा लुढ़क गया है तो वहीं मध्य प्रदेश (MP) में कड़ाके की ठंड से राहत मिलती हुई नजर आ रही है. पिछले दिनों के मुताबिक प्रदेश के न्यूनतम तापमान में बढ़ोतरी देखी जा रही है, वहीं अधिकतम तापमान में भी जबरदस्त उछाल देखने को मिला है. फरवरी की शुरुआत से पहले ठंड (Cold) से राहत के साथ ही कोहरा (Fog) भी छंटता हुआ दिखाई दे रहा है.


पिछले 24 घंटे के दौरान प्रदेश में न्यूनतम तापमान छतरपुर के खजुराहो में 7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. वहीं बिजावर में पारा 7.4 रहा, जो दूसरा सबसे ठंडा स्थान रहा. शहडोल के कल्याणपुर में 7.7 डिग्री, रीवा में 8 डिग्री, दतियाऔर अशोकनगर के आंवरी में 8.2 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया. ये पांच सबसे कम तापमान वाले स्थान रहे. वहीं नर्मदापुरम के पचमढ़ी में सबसे कम अधिकतम तापमान रहा, जो 24 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.


सोमवार को कई जगहों का न्यूनतम तापमान (minimum temperature) 10 डिग्री सेल्सियस के ऊपर पहुंच गया. मौसम विशेषज्ञों के मुताबिक जल्द ही नया वेदर सिस्टम (weather system) एक्टिव हो सकता है, जिससे बारिश (Rain) होने की संभावना है. बारिश के बाद एक बार फिर तापमान में गिरावट देखी जा सकती है और दोबारा कड़ाके की ठंड पड़ने के आसार हैं.

Advertisment
Latest Stories