M.P. Breaking news: पति निकला एसडीएम निशा नापित का हत्यारा

मध्यप्रदेश (MP) के डिंडौरी जिले के शहपुरा में पदस्थ महिला SDM निशा नापित की संदिग्ध मौत के मामले में बड़ा खुलासा हुआ है।

author-image
By Shivansh Shukla
New Update
Husband turns out to be the murderer of SDM Nisha Napit

Husband turns out to be the murderer

एसडीएम की हत्या की गई थी और आरोप उनके पति मनीष शर्मा पर है। पति ने तकिए से मुंह दबाकर एसडीएम पत्नी को मार डाला था। पुलिस इस मामले में 24 घंटे में खुलासा कर दिया है। 

Advertisment

एस डी एम नीशा

आईजी बालाघाट मुकेश श्रीवास्तव ने सोमवार 29 जनवरी को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस पूरे हत्याकांड की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि सबूत को छिपाने के लिए पति ने घटना के बाद कपड़ों को वाशिंग मशीन में धोने डाला और सुखाया भी है। आईजी के मुताबिक पुलिस को मिले सबूत के आधार पर पति मनीष शर्मा (45) के खिलाफ कई धाराओं में केस दर्ज कर हिरासत में ले लिया गया है।

आरोपी मनीष शर्मा, उम्र 45 साल, निवासी ग्वालियर के खिलाफ अपराध आईपीसी की धारा 302,304बी, 201 के तहत आरोपी बनाया गया है। प्रकरण में डीआईजी बालाघाट रेंज ने जांच करने वाले पुलिसकर्मियों को 20 हजार रुपये का इनाम देने की घोषणा की है।

Advertisment

उल्लेखनीय है कि मृतक एसडीएम की बहन नीलिमा की ने भी भी पति पर ही हत्या करने का आरोप लगाया था। उन्होंने बताया था कि पति मनीष शर्मा एसडीएम पत्नी के साथ मारपीट करता था और पैसों के लिए परेशान करता था।

गौरतलब है कि गत रविवार को करीब चार बजे शहपुरा के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में पति मनीष शर्मा ही एसडीएम निशा नापित को लेकर गया था। वहां पर डॉ. रत्नेश द्विवेदी ने उनकी जांच की तो बताया कि निशा की मौत पहले ही हो चुकी है। हालांकि, उन्होंने कहा था कि मौत के कारणों की पुष्टि पोस्टमॉर्टम के बाद ही हो सकेगी। सोमवार को पोस्ट मार्टम हुआ तो उसमें पता चला कि निशा नापित की हत्या हुई थी। 

 मैट्रिमोनियल वेबसाइट के जरिए हुआ था परिचय, मंडला में हुई थी शादी-

पुलिस का कहना है कि ग्वालियर निवासी 45 वर्षीय मनीष शर्मा से निशा का परिचय मैट्रिमोनियल वेबसाइट के जरिए हुआ था। दोनों की शादी तीन अक्तूबर 2020 को हुई थी। दोनों ने मंडला के गायत्री मंदिर में शादी की थी। 

सर्विस रिकॉर्ड में नामिनी बनाने बना रहा था दबाव -
निशा और मनीष के बीच कई बातों को लेकर विवाद हो रहा था। मनीष चाहता था कि निशा अपने सर्विस रिकॉर्ड समेत अन्य जगहों पर नॉमिनी के तौर पर उसका नाम दर्ज करें। निशा इस बात को लेकर राजी नहीं थी। इसी बात को लेकर रविवार को भी दोनों में विवाद हुआ था और मनीष ने निशा की हत्या कर दी।



 

 

Advertisment
Latest Stories
Advertisment