Advertisment

Jabalpur News : गुड फ्राइडे पर प्रभु यीशू के बलिदान किया याद, रैली निकालकर दिया संदेश

आज ईसाई धर्म के लोगों का प्रमुख दिन गुड फ्राइडे है। शहर में आज 29 मार्च को ईसाई धर्म के लोगो द्वारा इसे बलिदान दिवस के रूप में मनाया गया।

author-image
By Shivansh Shukla
New Update
JESUS

Lord Jesus

जबलपुर। आज ईसाई धर्म के लोगों का प्रमुख दिन गुड फ्राइडे है। शहर में आज 29 मार्च को ईसाई धर्म के लोगो द्वारा इसे बलिदान दिवस के रूप में मनाया गया। ईसाई समुदाय द्वारा रैली निकालते हुए नाट्य प्रस्तुति की गई। इस दौरान बड़ी संख्या में ईसाई समुदाय के लोग उपस्थित रहे। 

Advertisment

 मौत को गले लगा दिया साहस का परिचय
 मान्यताओं के अनुसार, इस दिन प्रभु यीशू को सूली पर लटका दिया गया था। ईसा मसीह ने हंसते-हंसते मौत को लगे लगाकर साहस का परिचय दिया और समस्‍त मानव जाति को यह संदेश दिया कि समाज के कल्‍याण के लिए अपना जीवन भी कुर्बान करना पड़े तो कर दो। यही वजह है कि ईसा मसीह के मृत्‍यु दिवस को गुड फ्राइडे कहा जाता है। ऐसा माना जाता है कि जब यहूदी शासकों ने ईसा मसीह को तमाम शारीरिक और मानसिक यातनाएं देने के बाद सूली पर चढ़ाया था तो उस दिन शुक्रवार था।

 तीन दिन बाद हुए थे जीवित
 बताया जाता है कि इस घटना के तीन दिन बाद संडे को यीशू फिर से जीवित हो गए थे, जिसे ईस्‍टर संडे के रूप में मनाते हैं। गुड फ्राइडे को ईसाई धर्म के लोग कुर्बानी दिवस के रूप में मनाते हैं। गुड फ्राइडे के दिन चर्च में न तो घंटिया बजाई जाती हैं और न ही मोमबत्‍ती जलाई जाती हैं। इस दिन ईसाई धर्म के लोग चर्च में काले कपड़े पहनकर आते हैं और शोक सभाएं आयोजित करते हैं।

 

Advertisment

 

 

out a rally and gave the message

Advertisment
Latest Stories
Advertisment