Jabalpur News: जिले के सभी पटाखा एवं विस्फोटक पदार्थ निर्माण स्थलों का टीम करेगी निरीक्षण, कलेक्टर ने दिया निर्देश

हरदा में हुई घटना को देखते हुये आज बुधवार 7 फरवरी को जिले में स्थित पटाखा एवं विस्फोटक पदार्थों के निर्माण स्थलों, गोदामों और विक्रय केंद्रों का प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारियों द्वारा सयुंक्त निरीक्षण किया जायेगा।

New Update
Collector gave instructions

Collector gave instructions

जबलपुर। कलेक्टर दीपक सक्सेना की अध्यक्षता में बीती शाम आयोजित प्रशासन एवं पुलिस अधिकारियों की बैठक आयोजित हुई। कलेक्टर कार्यालय में सम्पन्न हुई इस बैठक में पुलिस कप्तान आदित्य प्रताप सिंह विशेष तौर पर मौजूद थे। बैठक में कलेक्टर दीपक सक्सेना ने सभी एसडीएम को निर्देश दिये कि वे अपने-अपने क्षेत्रों में पटाखा एवं विस्फोटक पदार्थो के निर्माण स्थलों, गोदामों एवं विक्रय केंद्रों की जाँच सुबह 9 बजे से शुरू कर दें। उन्होंने सभी लायसेंस धारियों को भी निर्देश दिये कि सुबह 9 बजे लायसेंस एवं सभी आवश्यक दस्तावेजों के साथ अनिवार्य रूप से मौके पर मौजूद रहें।

Advertisment

कलेक्टर श्री सक्सेना ने बताया कि पटाखा एवं विस्फोटक पदार्थो के निर्माण स्थलों, गोदामों और विक्रय केंद्रों के निरीक्षण के लिये अनुविभाग स्तर पर एसडीएम और एसडीओपी की एवं तहसीलदार एवं थाना प्रभारियों के सयुंक्त दल गठित किये जाने के साथ-साथ जिला स्तर पर भी अपर कलेक्टरों एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षकों की सयुंक्त टीमें गठित की जा रही हैं। इसके अलावा वे स्वयं भी पुलिस अधीक्षक के साथ पटाखा निर्माण स्थलों और गोदामों का निरीक्षण करेंगे।                                                                          

लायसेंसधारियों को दस्तावेजों सहित उपस्थित रहने निर्देश
कलेक्टर ने बैठक में सभी एसडीएम और अनुविभागीय पुलिस अधिकारियों को निरीक्षण के दौरान स्थानीय अमले को भी साथ रखने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा कि एसडीएम अपने क्षेत्र के पटाखा लायसेंसधारियों को सुबह 9 बजे सभी आवश्यक दस्तावेजों के साथ मौके पर मौजूद रहने सूचित कर दें। कलेक्टर ने अनुविभागीय दण्डातधिकारियों को पुलिस अधिकारियों के साथ पटाखा एवं विस्फोटक पदार्थो के निर्माण स्थल, गोदामों एवं विक्रय केंद्रों के दौरान सभी जरूरी अनुमतियों और लायसेंस की शर्तों का बारीकी से अध्ययन करने के निर्देश दिये हैं।

उन्होंने कहा कि यदि लायसेंस की शर्तों का उल्लंघन पाया जाता है या कमियां पाई जाती है इसकी बिंदुवार जानकारी अपनी निरीक्षण रिपोर्ट दें, ताकि सबंधित के विरुद्ध कार्यवाही की जा सके। निरीक्षण के दौरान साथ एक-एक इंजीनियर को भी तैनात किया जायेगा जो निर्माण स्थल और गोदामों के भवन का निरीक्षण कर बतायेंगे कि लायसेंस की शर्तों के मुताबिक भवन उपयुक्त है या नहीं।

Advertisment
Latest Stories
Advertisment