Jabalpur News: बहन, जीजा, सास और पत्नी ने रची थी ओम की हत्या की साजिश, 2 साल बाद पकड़ा गया हत्या का आरोपी

विगत दो सालों हत्या के आरोपी को ढूंढ रही पुलिस आखिकार कामयाबी मिल गई। आरोपी ने 22 हजार की सुपारी लेकर घर वालों के कहने पर एक व्यक्ति को मौत के घाट उतार दिया था।

New Update
murder

Accused of murder caught after 2 years

जबलपुर। इस मामले में कुण्डम थाने में विगत 14 नवंबर 2021 को पुलिस को ग्राम काराघाट एवं खैरी मडई कला के बीच मेन रोड पर एक व्यक्ति का शव खून से लथपथ पुलिस को मिला था।  इस मामले में पुलिस को 30 वर्षीय संतोष यादव निवासी ग्राम छतैनी कुआ टोला थाना बिलासपुर जिला उमरिया ने बताया कि सुबह 6 बजे उसकी भाभी ने मोबाईल पर फोन कर बताया कि तुम्हारे भाई ओमप्रकाश यादव काराघाट एवं खैरी मडईकला के बीच मेन रोड पर मृत पड़े हुये है। सूचना पर उसने तुरंत पहुंचकर देखा तो उसका भाई 35 वर्षीय ओम प्रकाश यादव मृत हालत में पड़ा हुआ था। 

Advertisment

ये है पूरा मामला
पुलिस में जब इस मामले की जांच की तो पता चला कि ग्राम चौरई मे मृतक ओमप्रकाश, संजय नगर अधारताल निवासी सत्यम एवं बंटी उर्फ रामकिशोर पटेल निवासी ग्राम बंधा के साथ घूम रहा था। पुलिस की सघन पूछताछ पर 20 वर्षीय सत्यम पटेल अंजलि पटेल ने बताया कि उसके साथ ही बंटी उर्फ रामकिशोर पटेल को  राजेन्द्र यादव निवासी खिरवा खेरवा द्वारा ओमप्रकाश यादव की हत्या करने के लिए 22 हजार की सुपारी दी गई थी। इसके बाद आरोपियों ने मृतक राम प्रकाश यादव को13 नवंबर 2021 की सुबह काम दिलाने के बहाने मढ़ईकला  ले गए। जहां पर आरोपियों ने मृतक के साथ बैठकर खूब शराब पी।

सांस चलने पर फिर किया हमला
शाम के वक्त जब घर जाने लगे तो बंटी उर्फ रामकिशोर पटेल ने ओमप्रकाश को बाईक में बीच मे बैठाया और वह पीछे बैठ गया। आरोपी ने बताया कि जब वह वापस आने लगे तो बीच रास्ते में गाड़ी रोक कर आरोपी बंटी ने लोहे की रोड से ओमप्रकाश के सिर  पर ताबड़तोड़ हमले कर दिए। जहां मौके पर ही ओमप्रकाश गिर पड़ा । इसके बाद आरोपियों ने मृतक की जेब से मोबाइल की सिम निकाल कर फेंक दिया। और उसका पर्स खुद अपने पास रख लिया। आरोपियों नें ओम प्रकाश को मृत समझकर उसकी बॉडी गाड़ी में ले जाना चाहिए तो पता चला कि ओमप्रकाश की सांसे चल रही थी। फिर बंटी ने दुबारा राड से ओमप्रकाश के गर्दन, व सिर पर मारा औऱ गाडी पर बैठाकर कहीं दूर फेंक जाने के लिए ले जाने लगे। रास्ते में जाते समय आरोपियों की गाड़ी खेत के पास गिर गई। इस पर उन्होंने मृतक को वहीं छोड़कर आगे चल पड़े। आरोपियों ने बताया कि उन्होंने रास्ते में एक नदी पर जाकर खून से लटपट अपने कपड़े और गाड़ी को धोया। इसके बाद अपने कपड़ों को आग में जला दिया।                                         

शराब के नशे में करता था मारपीट 
पुलिस ने जब इस मामले में मृतक के जीजा आरोपी 42 वर्षीय राजेन्द्र कुमार यादव 42 वर्ष निवासी ग्राम खिरवा सेमर मोहल्ला मखरार कुण्डम, बहन 40 वर्षीय ओमबाई यादव पति राजेन्द्र कुमार यादव,  मृतक की पत्नि 32 वर्षीय सरोज बाई पति स्व. ओमप्रकाश यादव और सास 65 वर्षीय रतनी बाई यादव निवासी ग्राम मढईकला मरकामन टोला थाना कुण्डम से सघन पूछताछ की तो उन्होंने बताया कि मृतक ओम प्रकाश यादव आए दिन उन्हें शराब के नशे में मारपीट करता था। तभी उन्हें पता चला कि पता चला कि जबलपुर निवासी बंटी नाम व्यक्ति गुंडा है जो की पैसों के लिए कुछ भी कर सकता है। जिसके चलते उन्होंने एक दिन ओम प्रकाश को मारने की योजना बनाई।  

सुपारी देने मामा से लिए 25 हजार उधार    
ओम प्रकाश यादव की हत्या करने के लिए उसकी सास रतनी बाई ने लोहडा उमरिया जाकर उसके मामा अपने रामकुमार यादव  से 25 हजार रुपए उधार मांगे। और फिर जीजा राजेन्द्र ने बंटी से बात करके ओमप्रकाश को मारने की योजना बनाई, जिसपर वह 22 हजार रुपयों में तैयार हो गया। पुलिस द्वारा मुख्य आरोपी रामकिशोर पटेल उर्फ बंटी पिता रामकुमार पटेल निवासी ग्राम बांध ढीमरखेडा जिला कटनी का फरार था, जिसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस द्वारा प्रयास किए जा रहे थे। साथ ही उसके ऊपर 7 हजार रुपयों को इनाम भी घोषित था।   

पहले से कई मामले दर्ज   
इसी दौरान विगत 10 फरवरी को मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने फरार ईनामी आरोपी रामकिशोर पटेल उर्फ बंटी कढोंदा में ममता हार्डवेयर के सामने घेराबंदी करते हुए पकड़ लिया। आरोपी के पास से मौके पर 1 देशी पिस्टल जिसमें 4 राउडं लोड पकड़े गए। पुलिस के मुताबिक आरोपी बंटी के ऊपर लूट, नकबजनी, चोरी, बलात्कार, आबकारी एक्ट के कुल 9 मामले पहले से दर्ज है। अधारताल थाने की पुलिस द्वारा आरोपी को गिरफ्तार कर कुण्डम थाने में सूचना दे दी गई है।

Advertisment
Latest Stories
Advertisment