Advertisment

Jabalpur News: RDVV प्रशासन का फरमान...पहले पुलिस वेरिफिकेशन कराएं, फिर रखें सर्वेंट

रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय (RDVV) ने एक अलर्ट जारी करते हुए सभी शिक्षकों, अधिकारियों और कर्मचारियों को चेताया है कि वे कैंपस में किसी भी बाहरी को अनाधिकृत प्रवेश न दें।

New Update
Jabalpur RDVV दीक्षांत रिहर्सल 3 अक्टूबर से, 25 सितंबर से पंजीयन 

RDVV administration's order

आर्य समय संवाददाता,जबलपुर। रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय (RDVV) ने एक अलर्ट जारी करते हुए सभी शिक्षकों, अधिकारियों और कर्मचारियों को चेताया है कि वे कैंपस में किसी भी बाहरी को अनाधिकृत प्रवेश न दें। यदि किसी कारण बस बाहरी व्यक्ति को अपने शासकीय आवास में रखना पड रहा है तो पहले पुलिस वेरिफिकेशन करा लें। 

Advertisment

दरअसल,कैंपस में आए दिन सामने आ रही आपराधिक गतिविधियां को लेकर विश्वविद्यालय प्रशासन काफी टेंशन है। मुख्य रूप से चोरी की वारदातों पर अंकुश लगाने के तमाम उपाय ना काफी साबित हो रहे हैं। जिसके चलते कैंपस की सुरक्षा व्यवस्था एक बड़ा मुद्दा बनता जा रहा है।

क्यों जारी करना पड़ी सूचना -
बताया जाता है कि पूर्व में कुछ ऐसे मामले प्रकाश में आए हैं कि विश्वविद्यालय आवासीय एरिया में रहने वाले अनाधिकृत व्यक्ति आपराधिक गतिविधियों में संलिप्त पाए गए हैं।

 पड़ताल में यह बात सामने आयी कि शिक्षकों, अधिकारियों एवं कर्मचारियों को विश्वविद्यालय परिसर में जो आवास आवंटित है एवं उनके सर्वेन्ट क्वार्टर में रहने वाले निजी कर्मचारी का पुलिस वेरिफिकेशन ना होने के चलते वे अपराधी भी बड़ी आसानी से यहां शरण ले लेते हैं।

Advertisment

इसलिए विश्वविद्यालय प्रशासन ने अलर्ट किया है कि सर्वेंट क्वाटर्र में कर्मचारियों को रखने से पहले उनके संबंध में विस्तृत जानकारी एकत्रित कर लें। 

वहीं विश्वविद्यालय प्रशासन की ओर से यह चेतावनी भी दी गई है कि भविष्य में यदि सर्वेंट क्वार्टर में रहने वाला व्यक्ति किसी अपराधिक गतिविधि में संलिप्त पाया गया तो उसका उत्तरदायी संबंधित वहीं व्यक्ति होगा जिसके नाम पर आवास आवंटित हैं।

रेंट पर भी दे रखें हैं सर्वेंट क्वार्टस 
आवासीय कैंपस में रहने वाले कई अधिकारियों-कर्मचारियों ने आवंटित शासकीय आवास में बने सर्वेंट क्वाटर्स को रेंट पर दे दिया है। महज दो से तीन हजार रूपए में किराए पर दिए गए सर्वेंट क्वार्टर में रहने वाला व्यक्ति फिर चाहे वहां कुछ भी करें। सबसे मजे कि बात तो यह कि सर्वेंट क्वार्टर में किराए से रहने वालों को बिजली फ्री मिलती है। अब विश्वविद्यालय प्रशासन ने निर्देश दिए हैं कि यदि सर्वेन्ट क्वाटर में व्यक्ति अवैध रूप से रह रहा है या अवैध गतिविधि में लिप्त है तो उक्त के संबंध में तत्काल विश्वविद्यालय प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन को सूचित करें ताकि संबंधित व्यक्ति के विरुद्ध दण्डात्मक कार्यवाही की जा सके।

Advertisment
Latest Stories
Advertisment