Advertisment

Jabalpur News : RDVV में चपरसी ने नकल प्रकरण निपटाने का ले लिया ठेका..!, फिर चेक लौटानी पड़ी रिश्वत... वीडियो वायरल

रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय (RDVV) से जुड़ा एक वीडियो इनदिनों सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वीडियो नकल प्रकरण को निपटाने के नाम पर छात्र से वसूले गए पैसों को लेकर हो रहे विवाद से जुड़ा बताया जा रहा है।

New Update
Peon in RDVV took the contract

Peon in RDVV took the contract

आर्य समय संवाददाता,जबलपुर।  पूरे घटनाक्रम में यह भी देखने को मिल रहा है कि प्रकरण निपटाने के नाम पर पैसा लेने वाला कर्मचारी जब चारो तरफ से घिर गया तो आनन-फानन में चेक काटकर छात्र देते हुए भी नजर आ रहा है। सबसे मजे की बात यह कि वायरल वीडियो विश्वविद्यालय के कुलपति तक जा पहुंचा है। जिसके बाद अब वीडियो के संबंध में पतासाजी कराई जा रही है‌।

Advertisment

जानकारी के मुताबिक कटंगी कॉलेज के बीएससी के छात्र का नकल प्रकरण बन गया था। जिसके चलते वह विश्वविद्यालय के चक्कर काट रहा था। इसी दौरान उसकी मुलाकात विश्वविद्यालय के एक चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी (चपरासी) से हुई। जिसके बाद पूरे मामले को निपटाने के लिए संभवता: तीन हजार रूपए में बात तय हुई।

 इसके बाद उक्त छात्र लगातार संबंधित कर्मचारी के संपर्क में बना हुआ था। जैसा कि वायरल आॅडियों और वीडियों से पता चल रहा है। इस दौरान उक्त छात्र ने 1500 रूपए की पहली किश्त ऑन लाइन भेजी। वहीं 1500 रूपए की दूसरी किश्त नगद दी गई। लेकिन ठेका लेने वाला कर्मचारी छात्र को तारीख पर तारीख देते चला जा रहा था।

 इस बीच छात्र को यह अंदाजा लग गया कि उसका काम नहीं हो पाएगा। लिहाजा उसने पैसे वापस करने की मांग रखी। लेकिन कर्मचारी पैसे देने से आनाकानी करने लगा। जिसके बाद उक्त छात्र ने अपने परिचित की किसी महिला कर्मचारी से मदद मांगी। उक्त महिला कर्मी ने पूरे प्रकरण को समझा और संबंधित कर्मचारी की घेराबंदी करते हुए पैसे वापस दिलवाए।


चेक से वापस हुए पैसे, छात्र से शिकायत वापस करवा ली -
बताया जाता है कि महिला कर्मी की घेराबंदी के बाद छात्र से पैसे ठगने वाले कर्मी ने चेक के माध्यम से तीन हजार रूपए तत्काल लौटा दिए। वहीं छात्र से एक पत्र भी लिखवाया गया कि जो रिश्वत के पैसे उसने दिए थे वह उसे वापस मिल गए है। लिहाजा वह विश्वविद्यालय प्रशासन को जो लिखित शिकायत दी थी उसे वापस लेता है। लेकिन उक्त सौदेबाजी का वीडियो वायरल हो गया।

वायरल वीडियो के संबंध में पता लगाया जा रहा है। पूरे मामले की गंभीरता से जांच कराई जाएगी।
डॉ राजेश वर्मा, कुलपति

Advertisment
Latest Stories
Advertisment