Advertisment

Jabalpur News : आयुध निर्माणी दिवस: शहीद साथियों को किया याद, गुब्बारे छोड़ दिखाया उत्साह

आयुध निर्माणियों में आज कर्मचारी संगठनों द्वारा आज 18 मार्च को आयुध निर्माणी दिवस मनाया जा रहा है‌। दरअसल, आज से लगभग 223 वर्ष पहले कोलकाता के काशीपुर में सबसे पहला आयुध निर्माणी की स्थापना की गई थी।

New Update
Remembered martyred

Remembered martyred

जबलपुर। आयुध निर्माणियों में आज कर्मचारी संगठनों द्वारा आज 18 मार्च को आयुध निर्माणी दिवस मनाया जा रहा है‌। दरअसल, आज से लगभग 223 वर्ष पहले कोलकाता के काशीपुर में सबसे पहला आयुध निर्माणी की स्थापना की गई थी। उसके बाद धीरे-धीरे पूरे देश में कूल 41 आयुध निर्माणियां खोली गई। देश में हर विपरीत परिस्थितयों तथा बाहरी ताकतों ने जब-जब देश पर आक्रमण किया तब भारतीय आयुध निर्माणियों ने देश की सेना को गोला बारूद और सामरिक दृष्टि सामाग्री उपलब्ध करवाकर देश की रक्षा की। इन्ही आयुध निर्माणियों ने देश में जब वैश्विक महामारी कोरोना आई तब अस्पतालों में बेड , सेनेटाइजर , ऑक्सीजन , वेंटिलेटर पहुंचा कर देश को सहयोग प्रदान किया।

आज 18 मार्च को शहर में स्थित सभी आयुध निर्माणियों में आयुध निर्माणी दिवस धूमधाम से मनाया गया। इस अवसर पर आयुध निर्माणी खमरिया (OFK) में प्रातः गुब्बारा छोड़कर आयुध निर्माणी दिवस की शुरुआत की गई। उसके पश्चात शहिद स्मारक में पुष्पांजलि सभा आयोजित कर आयुध शहीदों को याद किया गया। वहीं सम्पूर्ण निर्माणी में मिष्ठान वितरण किया गया।  इस अवसर पर लेबर यूनियन, कामगार यूनियन, एस सी एस टी यूनियन के साथ-साथ सभी एसोसिएशन उपस्थित रही।

यूनियनों का कहना है कि दुर्भाग्य की बात है कि मौजूदा सरकार ने 1 अक्टूबर 2021 को देश के तमाम आयुध निर्माणियों को 7 भागों में बांट कर इनको निगम के हाथों सौप दिया। आयुध निर्माणी के कर्मचारी- अधिकारी को निगमीकरण स्वीकार नहीं है। आज भी देश भर के आयुध निर्माणियों में 18 मार्च आयुध निर्माणी दिवस के रूप में मनाया जाता है ।

Advertisment
Latest Stories
Advertisment