Jabalpur News: मध्यप्रदेश आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय निर्धारित समय पर परीक्षा कराएं, डिप्टी सीएम शुक्ल ने दिए निर्देश

प्रदेश सरकार के उपमुख्यमंत्री तथा स्वास्थ्य विभाग देख रहे राजेन्द्र शुक्ला 1 फरवरी को जबलपुर में आयोजित मेडिकल कॉलेज व हॉस्पिटल की सामान्य परिषद की बैठक में सम्मिलित होने पहुंचे।

author-image
By Shivansh Shukla
New Update
Deputy CM Shukla gave instructions

Deputy CM Shukla gave instructions

आर्य समय संवाददाता, जबलपुर। बैठक में संस्थानों में गुणवत्तापूर्ण चिकित्सा सुविधा हेतु उपस्थित चिकित्सीय अधिकारियों से चर्चा की गई। इस अवसर पर मध्यप्रदेश आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय में अध्ययनरत छात्रों के हितों का संज्ञान लेते हुए निर्धारित समय पर परीक्षा कराने निर्देश दिए। बैठक में खाली पदों को भरने सहित नर्सिंग और पैरामेडिकल स्टाफ के खाली पदों की भर्ती प्रक्रिया पर श्री शुक्ल ने सकारात्मक आश्वासन दिया। बैठक के दौरान मेडिकल में आए बदलाव और जरूरतों पर भी विस्तार से चर्चा की गई।

Advertisment

श्री शुक्ल ने मेडिकल कॉलेज प्रबंधन को आत्मनिर्भर बनने की सलाह दी। उनका कहना था कि शासन आवश्यकताअ‍ों को पूरा करने सहित स्वास्थ्य सुविधाओं में विस्तार को लेकर सजग है। जहां जो आवश्यक होता है, वो पूरा किया जाता है। लेकिन उन्होंने ये भी जोड़ा कि हर चीज के लिए शासन पर निर्भर रहना भी सही नहंी है। सभी विभागों को अपने संसाधन बढ़ाने की दिशा में भी सोचना चाहिए। बैठक में महापौर जगत बहादुर अन्नू ने  मेडिकल के सामने के की जमीन और उस पर हो रहे अतिक्रमण का मुद्दा उठाया।

उन्होंने ये भी कहा कि यदि यह जमीन मेडिकल नगर निगम को देता है तो नगर निगम शहर हित में उसका उपयोग करेगा। यहां व्यवस्थित मार्केट डेवलप किया जा सकता है। ऐसे में वहां अतिक्रमण भी नहीं होंगे। मार्केट में ऊपर की छत मेडिकल कॉलेज की होगी। मेयर की मांग पर उप मुख्यमंत्री ने कॉलेज टीम और नगर निगम से बैठक कर चर्चा करने कहा। मेडिकल पहुंचने पर डीन डॉ. गीता गुईन ने उनका स्वागत किया। बैठक में पाटन विधायक अजय बिश्नोई, अभिलाष पांडे, महापौर जगत बहादुर, डॉ. पुष्पेन्द्र बघेल, डॉ अशोक खंडेलवाल, सीएमएचओ डॉ. संजय मिश्रा सहित सहित अन्य प्रशासनिक अधिकारी उपस्थित थे।

अधिकारियों ने मेडिकल में डॉक्टरों की कमी का मुददा उठाया। स्वास्थ्य मंत्री में है इशारा किया है कि सरकार बहुत ज्यादा फंड नहीं दे सकती स्वयं को आपको आत्मनिर्भर बनना होगा। उन्होंने इंफ्रास्ट्रक्चर, नर्सिंग कॉलेज, पैरामेडिकल कॉलेज, सहित अन्य जरूरतों पर प्रोजेक्ट तैयार कर शासन को भेजने की बात कही। उन्होंने आश्वासन दिया कि आवश्यक प्रस्ताव को पास करने में पूरी मदद करेंगे और जहां भी फंड की आवश्यकता होती है उसकी पूर्ति कराएंगे।

Advertisment
Latest Stories