Advertisment

Jabalpur News: हरे-भरे वृक्षों पर बेहरमी से कुल्हाड़ी चला रहा माफिया, वन विभाग ने फिर पकड़ा लकड़ी से भरा वाहन

शहर से लगे वन क्षेत्रों में लगातार लकड़ी माफिया सक्रिय है। इसका प्रत्यक्ष उदाहरण है कि माफिया सीधे जंगलों से इमारती लकड़ियां लोड कर आरा मशीनों तक पहुंचा रहे हैं।

New Update
police

Mafia is brutally

आर्य समय संवाददाता,जबलपुर। शहर से लगे वन क्षेत्रों में लगातार लकड़ी माफिया सक्रिय है। इसका प्रत्यक्ष उदाहरण है कि माफिया सीधे जंगलों से इमारती लकड़ियां लोड कर आरा मशीनों तक पहुंचा रहे हैं। इतना ही नहीं अब तो हरे-भरे वृक्षों पर भी कुल्हाड़ी चलाई जा रही है। 

Advertisment

ताजा मामला वन परिक्षेत्र पनागर में सामने आया। जहां वन विभाग की टीम ने घेराबंदी करते हुए एक वाहन को पकड़ा। जिसमें अलग-अलग प्रजातियों के वृक्षों की करीब 25 क्विंटल लकड़ी लोड थी।

वन परिक्षेत्र अधिकारी पनागर ने बताया कि सौरभ शर्मा ने बताया कि वन क्षेत्रों में चल रही अवैध गतिविधियों पर लगाम लगाने के लिए वनमंडल अधिकारी द्वारा विशेष अभियान चलाने के निर्देश दिए गए हैं। जिसके तहत 20 मार्च को परिक्षेत्र पनागर अंतर्गत खजरी खिरिया बायपास के पास 'इमली और बबूल की लगभग 25 क्विंटल गीली लकड़ियों' से भरे पिकअप को अवैध रूप से लकड़ियों का परिवहन करते हुए पकड़ा गया। 

प्रारम्भिक पूछताछ में कोई भी वैध दस्तावेज नहीं पाया गया। लिहाजा पिकअप को लकड़ियों सहित जब्त कर डिपो पनागर लाकर खड़ा कर दिया गया है।
मप्र अभिवहन (वनोपज) अधिनियम 2000 की विभिन्न धाराओं के अंतर्गत प्रकरण दर्ज कर आवश्यक कार्यवाही की जा रही है। प्रकरण दर्ज करने में परिक्षेत्र सहायक छत्तरपुर पन्नालाल विश्वकर्मा, वनरक्षक सुमित मिश्रा, शैलेश गौतम,सफदर खां व अन्य कर्मचारियों की मुख्य भूमिका रही। 

वन परिक्षेत्र अधिकारी ने बताया कि इन दिनों वन परिक्षेत्र पनागर स्टाफ द्वारा लगातार गश्ती कर अवैध गतिविधियों पर कार्यवाही की जा रही है। उल्लेखनीय है कि इसके पहले भी पनागर में सागौन की लकड़ियां पकड़ी गई थी। वहीं जबलपुर परिक्षेत्र में भी दो अलग - अलग स्थानों में कार्रवाई करते हुए वन विभाग ने लाखों रूपए की सागौन को जप्त किया है।

Advertisment
Latest Stories
Advertisment