Jabalpur News: वंदे भारत में सफर कर रहे डॉक्टर को खाने में मिला कॉकरोच, तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हुई

वंदे भारत एक्सप्रेस में रानी कमलापति स्टेशन से जबलपुर का सफर कर रहे एक डॉक्टर को ट्रेन की पैंटीकार द्वारा परोसे गए खाने में कॉकरोच मिलने का मामला सामने आया है।

New Update
Found cockroach in his food

Found cockroach in his food

जबलपुर। इसकी शिकायत जब डॉक्टर द्वारा ट्रेन में मौजूद मैनेजर से की गई तो उसके द्वारा उल्टा उन्ही को मामला दबाने के लिए लालच दे दी गई। वहीं खानें के पैकेट में काकरोच वाली तस्वीरें सोशल मीडिया पर जोरों से वायरल हो रही हैं। इस संबंध में डॉक्टर डा. शुभेंदु केशरी निवासी ब्यौहारी ने बताया कि विगत 1 फरवरी को वे रानी कमलापति स्टेशन से वंदे भारत एक्सप्रेस में जबलपुर के लिए निकले थे।

Advertisment

Found cockroach in his food

जबलपुर पहुंचने के बाद उन्हें ब्यौहारी के लिए अलग ट्रेन से जाना था। उन्होंने बताया कि वंदे भारत एक्सप्रेस की टिकट के साथ ही उसमें खाना शामिल रहता है, जिस पर उन्होंने टिकट में नॉनवेज थाली को इंक्लूड कराया था। वंदे भारत एक्सप्रेस में सफर के दौरान उन्हें संबंधित कर्मचारियों द्वारा नरसिंहपुर स्टेशन के पास नॉन वेज थाली प्रदान की गई। लगभग आधा खाना खत्म करने के बाद उन्हें खाने में एक कॉकरोच दिखाई दिया। जिस पर उन्होंने तुरंत यह बात अपने आसपास बैठे यात्रियों को बताई।

Found cockroach in his food

Advertisment

मामला दबाने दिया लालच 
डा. शुभेंदु केशरी ने जब तत्काल पैंटीकार के मैनेजर को बुलाकर इस बारे में शिकायत की तो मैनेजर ने थाली अलग करते हुए दूसरी थाली देने को कहा। जिसपर डॉक्टर ने तुरंत मना कर दिया। मैनेजर द्वारा बार-बार उन्हें कंप्लेंट न करने की सलाह दी जा रही थी। साथ में उन्हें लालच भी दी कि आप कंप्लेंट ना करिए हम आपको टिकट के पैसे दे देते हैं, या फिर जो आप कहें वह कर देते हैं। 

जब वह जबलपुर स्टेशन पर उतर गए भी संबंधित कर्मचारी उन्हें शिकायत न करने और मामला दबाने के लिए लालच देते रहे। उन्होंने जबलपुर स्टेशन उतरते ही संबंधित अधिकारियों से इसकी की शिकायत की। साथ ही सोशल मीडिया के माध्यम से शिकायत को आगे बढ़ाया

ठेकेदार पर लगाया 45 हजार का जुर्माना 
जानकारी के मुताबिक आइआरसीटीसी द्वारा इटारसी की कंपनी को वंदे भारत एक्सप्रेस में खाने की सप्लाई की जिम्मेदारी दी गई है। यात्री की शिकायत पर जबलपुर रेल मंडल ने 25 और आइआरसीटीसी ने 20 हजार का जुर्माना ठेकेदार पर लगाया है। हालांकि, ठेका रद्द नहीं किया गया।

Advertisment
Latest Stories