Advertisment

Jabalpur News: नियुक्तियां निकाल आचार संहिता के लपेटे में आईं नेताजी सुभाष चन्द्र बोस मेडिकल कॉलेज की डीन

नेताजी सुभाष चन्द्र बोस मेडिकल कॉलेज के पल्मोनरी मेडिसिन विभाग असिस्टेंट प्रोफेसर की भर्ती मामले में  डीन डॉ. गीता गुईन जिला निर्वाचन अधिकारी के निशाने में आ गई हैं।

author-image
By Shivansh Shukla
New Update
 Medical College

Medical College

जबलपुर । जिला निर्वाचन अधिकारी ने डीन को आदर्श आचार संहिता का उलंघन मामले में दोषी पाया है। जिसके कार्रवाई के लिए संभागायुक्त कार्यालय को पत्र भेजा गया है।

Advertisment

 दरअसल, जिला निर्वाचन अधिकारी एवं कलेक्टर दीपक सक्सेना के पास एक शिकायत पहुंची थी। जिसमें बताया गया था कि आदर्श आचार संहिता लागू होने के बाद मेडिकल डीन द्वारा असिस्टेंट प्रोफेसर के रिक्त पदों के लिए आवेदन मंगाए गए हैं।

कलेक्टर दीपक कुमार सक्सेना ने बताया कि इस मामले में डीन गीता गुईन से पूछताछ की गई, जिस पर उनके द्वारा बताया गया कि विगत 12 मार्च को विभाग द्वारा सरकारी पदों के लिए नियुक्ति विज्ञापन जारी किया गया था। जिसमें कुछ गड़बड़ी होने के चलते दोबारा उक्त पदों के लिए संशोधन विज्ञप्ति 18 मार्च को जारी की गई ।    

संशोधन में बढ़ा दी पदों की संख्या
 कलेक्टर दीपक कुमार सक्सेना ने बताया कि डीन द्वारा प्रस्तुत किए गए जबाव की पड़ताल में यह बात सामने आई कि 18 मार्च जो मेडिकल कालेज प्रशासन द्वारा दोबारा से नियुक्ति के लिए विज्ञप्ति जारी की गई थी,उसमें पदों की संख्या बढ़ा दी गई। पदों की संख्या बढ़ाए जाने के कारण पूरी प्रक्रिया नये सिरे से प्रारंभ हो गई। कलेक्टर ने बताया कि आचार संहिता को लेकर चुनाव आयोग के निर्देश हैं कि शासकीय विभाग कोई भी नवीन नियुक्ति करेंगें तो उसके लिए आयोग से परमीशन लेना पड़ेगा । 

चुनाव आयोग को दी सूचना
कलेक्टर ने बताया कि संशोधन के वक्त मेडिकल कॉलेज प्रशासन को कोरीजेंडम जारी करना था, परंतु उन्होंने 10 पदों की जगह 11 पदों का अमेडमेंट जारी कर दिया,चूंकि यह आचार संहिता के उल्लंघन से जुड़ा विषय है। इसलिए कलेक्टर द्वारा इस पूरे मामले को चुनाव आयोग एवं जबलपुर कमिश्नर को अवगत करा दिया गया है ।

यह है मामला -
नेताजी सुभाष चंद्र बोस मेडिकल कॉलेज जबलपुर के पलमोनरी मेडिसिन डिपार्टमेंट में असिस्टेंट प्रोफेसर और प्रोफेसर की भर्तियां निकली थी। इसमें प्रोफेसर पलमोनरी मेडिसिन का 1 पद
(अनारक्षित), एसोसिएट प्रोफेसर पलमोनरी मेडिसिन का 1 पद (ओबीसी), असिस्टेंट प्रोफेसर
पलमोनरी मेडिसिन के 3 पद (अनारक्षित, एस टी,ओबीसी), प्रोफेसर रेस्पिरेटरी मेडिसिन । पद
(अनारक्षित), असिस्टेंट प्रोफेसर रेडियो डायग्नोसिस 1 पद (अनारक्षित), असिस्टेंट प्रोफेसर
रेस्पिरेट्री मेडिसिन 2 पद (अनारक्षित और एसटी)
के लिए विज्ञापन प्रकाशित किया गया था। इस तरह कुल 9 पदों के लिए आवेदन मांगे गए थे, पर 18 मार्च को इस विज्ञापन में एक संशोधन किया गया और नए विज्ञापन को प्रकाशित किया गया। इसमें पिछले 9 पदों के साथ असिस्टेंट प्रोफेसर जनरल मेडिसिन का एक अनारक्षित पद भी जोड़ दिया गया।

Advertisment
Latest Stories
Advertisment