मध्य प्रदेश के उप मुख्यमंत्री राजेंद्र शुक्ला ने राजा भोज एयरपोर्ट, भोपाल का दौरा किया,कहा कि राजा भोज एयरपोर्ट में एंबुलेंस की सुविधा भी जल्दी ही उपलब्ध कराई जाएगी।

राजा भोज एयरपोर्ट में स्थापित स्वचालित बाह्य डिफिब्रिलेटर एक इलेक्ट्रानिक उपकरण होता है। जिसके माध्यम से ह्रदय की गति को सामान्य करने के लिए बिजली के झटके दिया जाता है। वहीं इस उपकरण का उपयोग ह्रदय गति के अचानक रुकने में उपयोगी होता है। इसके उपयोग से दिमाग और शरीर के अन्य उपयोगी अंगों की सुरक्षा प्रदान की जाती है।

New Update
मध्य प्रदेश

राजा भोज एयरपोर्ट में स्थापित स्वचालित बाह्य डिफिब्रिलेटर एक इलेक्ट्रानिक उपकरण होता है। जिसके माध्यम से ह्रदय की गति को सामान्य करने के लिए बिजली के झटके दिया जाता है। वहीं इस उपकरण का उपयोग ह्रदय गति के अचानक रुकने में उपयोगी होता है। इसके उपयोग से दिमाग और शरीर के अन्य उपयोगी अंगों की सुरक्षा प्रदान की जाती है।

मध्य प्रदेश के उप मुख्यमंत्री राजेंद्र शुक्ल ने 2 फरवरी 2024 को राजा भोज एयरपोर्ट, भोपाल का दौरा किया। जहां उन्होंने स्वचालित बाह्य डिफिब्रिलेटर (एईडी) सुविधा की शुरूआत की। इस दौरान उन्होंने राजा भोज एयरपोर्ट पर एईडी की सुविधा को एक बेहतरीन पहल बताई। उन्होंने इसको लेकर कहा कि यह हवाई यात्रा को और अधिक सुरक्षित बनाएगी। साथ ही यात्रियों और कर्मचारियों के जीवन की सुरक्षा में भी उपयोगी साबित होगी। इस सुविधा को लेकर केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया का उप मुख्य मंत्री ने आभार जताया। इसके साथ ही कहा कि राजा भोज एयरपोर्ट में एंबुलेंस की सुविधा भी जल्दी ही उपलब्ध कराई जाएगी।

Advertisment


राजा भोज एयरपोर्ट में स्थापित स्वचालित बाह्य डिफिब्रिलेटर एक इलेक्ट्रानिक उपकरण होता है। जिसके माध्यम से ह्रदय की गति को सामान्य करने के लिए बिजली के झटके दिया जाता है। वहीं इस उपकरण का उपयोग ह्रदय गति के अचानक रुकने में उपयोगी होता है। इसके उपयोग से दिमाग और शरीर के अन्य उपयोगी अंगों की सुरक्षा प्रदान की जाती है।


आपको बता दें स्वाचालित बाह्य डिफिब्रिलेटर का उपयोग ह्रदय गति रुकने पर इस प्रकार किया जा सकता है। इसके लिए आपको इस डिवाइस को इंसान के छाती पर एक निर्दिष्ट स्थान पर चिपका देना होता है और डिवाइस के निर्देशों का पालन करना होता है। वहीं इस उपकरण का उपयोग उस समय तक किया जाए, जब तक मेडिकल सुविधा न मिल जाए। वहीं इसका उपयोग मेडिकल एक्सपर्ट के बगैर भी किया जा सका है। इसका पालन इंसान आपात स्थिति के दौरान कर सकता है।

बता दें इस उपकरण को राजा भोज एयरपोर्ट पर 4 जगहों पर लगाया गया है। जिसमें आगमन, प्रस्थान, सिक्योरिटी होल्ड एरिया और पैसेंजर बोर्डिंग ब्रिज शामिल हैं। वहीं नागर विमानन महानिदेशालय का निर्देश है कि इस प्रकार की सुविधा सभी एयरपोर्ट पर होनी चाहिए।

Advertisment
Latest Stories
Advertisment