Advertisment

M.P. News : भोजशाला सर्वे का छठा दिन आज, दोनों पक्ष मौजूद

भोजशाला वर्सेज कमाल मौला मस्जिद में आर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया (ASI) की टीम द्वारा शुरु किए गए सर्वेक्षण का आज छठा दिन है।

author-image
By aryasamay
New Update
uggj

धार।  हाईकोर्ट द्वारा दिए आदेश के तहत पुरातत्व विभाग की सर्वे टीम के साथ दोनों पक्षों के लोग भी सुबह सवा आठ बजे भोजशाला परिसर पहुंच गए थे। वहीं, जांच टीम आज कुछ खुदाई कार्य भी कर रही है, जिसके चलते मजदूरों को भी बुलाया गया।

Advertisment

हालांकि, भोजशाला परिसर में प्रवेश करने से पहले सभी मजदूरों की मेटल डिटेक्टर से जांच की गई। इसके बाद ही उन्हें अंदर प्रवेश दिया गया। फिलहाल, बुधवार को टीम द्वारा दिशा-निर्देशों के अनुसार सर्वेक्षण शुरु कर दिया गया है। आपको बता दें कि इससे पहले मंगलवार को टीम ने साढ़े 9 घंटे से ज्यादा समय तक सर्वे कार्य किया था। टीम सुबह 7 बजे भोजशाला पहुंची थी और शाम 4 बजकर 50 मिनट पर बाहर आई।

टीम ने मंगलवार को भोजशाला में खुदाई करवाई। साथ ही पत्थरों, शिलालेखों और स्तंभों की फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी समेत कार्बन डेटिंग की गई। सर्वे पूरा होने के बाद हिंदू समाज की ओर से मौजूद समिति के संयोजक गोपाल शर्मा ने बताया कि मंगलवार होने के कारण भोजशाला के पीछे की तरफ सर्वे हुआ। अंदर से जो भी प्रमाण निकले हैं, उन्हें टीम अपने संरक्षण में ले रही है। सर्वे पूरा होगा तो सच्चाई सबके सामने होगा।

 हिंदू पक्ष की ओर से कोर्ट में याचिका दायर करने वाले आशीष गोयल ने बुधवार को भोजशाला में जाते समय मीडिया से चर्चा की। उन्होंने कहा कि टीम वैज्ञानिक तकनीक के आधार पर ही अपने काम कर रही है। हम सर्वे से संतुष्ट हैं।

सर्वे टीम ने उनके स्टैंडर्ड बना रखे हैं। कोर्ट ने आदेश में एक-एक चीज स्पष्ट कर दी है। टीम ने सर्वे के लिए 50 मीटर के एरिया निर्धारित किया है।  जीपीआर तकनीक, उत्खनन आदि सभी तकनीक का उपयोग सर्वे के दौरान किया जा रहा है। इसके अलावा ग्राउंड लेवल की टीम को बहुत काम करने होते हैं। पिछले 5 दिनों में टीम ने खुदाई की, मैपिंग की, कई जगह के मेजरमेंट किये। सैंपलिंग के लिए कुछ मिट्टी भी ली गई है, जिसे टीम जांच के लिए ्पने साथ ले गई।

Advertisment
Latest Stories
Advertisment