पूर्व विधायक राम बाई को अलग-अलग दो मामले कोर्ट ने तीन-तीन माह की सजा सुनाई

दमोह जिले के पथरिया से विधायक रही रामबाई को दमोह के तत्कालीन कलेक्टर के साथ अभ्रदता करने के मामले में एमपी/ एमएलए कोर्ट ने सजा सुनाते हुए तीन माह की सजा और पांच सौ रुपए जुर्माना लगाया है।

author-image
By Shivansh Shukla
New Update
Former MLA Ram Bai

Former MLA Ram Bai

जबलपुर।  मामला 2022 का है जब दमोह के कलेक्टर एस.कृष्ण चैतन्य अपने कार्यालय में बैठे हुए थे, उसी दौरान पूर्व विधायक राम बाई पहुंची और शासकीय काम में अभ्रदता करते हुए कलेक्टर से बदतमीजी करने लगी। कलेक्टर ने इस मामले की दमोह कोतवाली थाने में शिकायत दर्ज करवाई। दो साल से चल रहे केस की न्यायाधीश विश्वेशरी मिश्रा ने सुनवाई की।

Advertisment

 दमोह कलेक्टर से की थी बदतमीजी 

अभियोजन की तरफ से कोर्ट को बताया गया कि दमोह के तत्कालीन कलेक्टर एस.कृष्ण चैतन्य के साथ सरेराह अभद्रता की थी। जिसके वीडियो भी सोशल मीडिया में वायरल हुए थे। कोतवाली थाना पुलिस ने इस मामले में चालान शीट जिला कोर्ट में पेश की। हाईकोर्ट के निर्देश पर बाद में यह मामला एमपी/ एमएलए कोर्ट में ट्रांसफर हुआ। ट्रायल में कलेक्टर की भी गवाही हुई, जिसमें कलेक्टर ने बताया कि मेरे साथ यह घटना हुई थी।

Advertisment

मामले की जानकारी देते हुए जिला अभियोजन अधिकारी अजय जैन

(मामले की जानकारी देते हुए जिला अभियोजन अधिकारी अजय जैन)

कोर्ट ने माना गंभीर अपराध 

जिला अभियोजन अधिकारी अजय जैन ने बताया कि बुधवार को एमपी एमएलए कोर्ट की विशेष न्यायाधीश ने पूर्व विधायक को दोषी माना और दमोह के तत्कालीन कलेक्टर एस.कृष्ण चैतन्य के साथ अभद्रता करने के मामले में सुनवाई की है। कोर्ट ने माना कि एक अधिकारी के साथ इस तरह से अभद्रता करना सही नहीं, लिहाजा तीन माह की सजा सुनाई गई है।

 बिजली विभाग के कर्मचारी को भी धमकाया 

दूसरे मामले में भी पूर्व विधायक राम बाई को तीन माह की सजा और एक हजार रुपए के जुर्माने से दंडित किया गया है। घटना 2016 की है जब पूर्व विधायक के एक कार्यकर्ता अवैध बिजली से आटा चक्की चला रहा था। सूचना मिलने पर बिजली विभाग कर्मचारी मौके पर पहुंचे बिजली काट दी। यह जानकारी जब पूर्व विधायक राम बाई को लगी तो वह अपने कार्यकर्ताओं के साथ बिजली कर्मचारी के घर पहुंची और अभद्रता करते हुए उसे धमकी दी। इस मामले पर भी दमोह के कोतवाली थाना पुलिस ने राम बाई सहित पुष्पेंद्र सिंह, गोलू सिंह,लवकेश,शैल सिंह, छोटू सिंह,गोविंद सिंह और राम बाई के खिलाफ मामला दर्ज किया था। इस मामले पर एमपी/एमएलए कोर्ट ने सुनवाई की और तीन माह की सजा और एक हजार रुपए का जुर्माना लगाया है।

Advertisment
Latest Stories